ધરતીનો છેડો?

ना बादलों की छाँव में, ना चांदनी के गांव में ना फूल जैसे रास्ते, बने हैं इसके वास्ते मगर ये घर अजीब है, ज़मीन के करीब है....... ये ईंट-पत्थरों का घर, हमारी हसरतों का घर ये तेरा घर ये मेरा घर ये घर बहोत हसीन है। जावेद अख्तर શીર્ષક એક સવાલ છે, અને મને વિશ્વાસ છે કે … Continue reading ધરતીનો છેડો?

Advertisements